गण्या बायको बरोबर रेल्वेत प्रवास करत असते

Hindi मनोरंजन विनोद

नमस्कार मंडळी… नेहमी प्रमाणे आज हि आम्ही तुमच्यासाठी नवीन मराठी विनोद घेऊन आलोय.. ते वाचल्यानंतर तुम्ही नक्की हसणार आणि तुम्हाला ते विनोद खूप आवडतील आणि हा शेयर करायला विसरू नका….. कारण तुम्ही शेयर किंवा कंमेंट करता तर आम्हाला चांगले वाटते.. विनोद हा जेवनाप्रमाणे असतो जसे जेवण केल्यावर पोट भरते तसेच विनोद वाचल्याने हसून हसून आपले पोट भरते… म्हणून रोज किमान ३-४ विनोद नक्की वाचत जा… विनोद वाचल्यामुळे आपण हसतो आणि हसल्यामुळे आपले आरोग्य निरोगी राहते… चला तर मग हसण्याच्या आपल्या कॉमेडी एक्सप्रेसला सुरुवात करूया….!!!

जोक 1 : कल श्रीमती जी ने कहा : आप के पास वूलन मोज़े नहीं है चलो तिब्बत मार्किट से लेके आते हैं . .
तीन घण्टे वहाँ बिताने के बाद जब घर लौटा
तो साथ में तीन वूलन कुर्तियां, दो शाल, स्टोल, लैगिंग्स थीं
और मेरे लिए एक आश्वासन..
“यहां अच्छे कलर के नहीं है, किसी अच्छी सी दूकान से लेने पड़ेंगे”😢😢😢😢😢😢😢

जोक 2 : गण्या बायको बरोबर रेल्वेत
प्रवास करत असते
रात्री अचानक बायको बोलली….
बायको : अहो ! माझ्या ब्‍ला..उ..ज कोणीतरी हाथ टाकत आहे
गण्या : तू टेन्शन नको घेऊ सर्व पैसे माझ्या खिच्यात आहेत शोधू दे त्याला….!!!😢😢😢😢

जोक 3 : पप्पू के सिर पर चो..ट लग गयी तो वो डॉक्टर के पास पट्टी बंधवाने गया। डॉक्टर ने सिर पर पट्टी बांध दी और पूछा कि चो..ट कैसे लगी?
पप्पू : छोड़ो डॉक्टर साहब लंबी कहानी है।
डॉक्टर: मैं फिर भी सुनना चाहता हूँ।
पप्पू : बात यह है कि पिछले हफ्ते पत्नी मायके गई हुई थी। मैं भी हवा बदलने रविवार को होटल में जा टिका। मेरे बगल के कमरे में एक खूबसूरत औरत थी। रात ग्यारह बजे उसने दरवाजा खटखटाया और माफी मांगते हुए कहा कि उसे ठंड लग रही है

अगर मैं कुछ मदद कर सकूं तो वह आभारी रहेगी। मैंने एक कम्बल दे दिया। थोड़ी देर बाद वह फिर आ गई और वही शिकायत करने लगी। मैंने उसे अपना ओवरकोट दे दिया।
आज जब मैं हथौड़ी से कील ठोंक रहा था तो अचानक मुझे समझ में आया कि उस दिन वह क्या चाह रही थी और बस, मैंने हथौड़ी अपने सिर पर दे मारी।

जोक 4 : नवरा : कंबर खूप दुखत आहे माझा….
जरा शेजाऱ्यान कडून iodex घेऊ ये
बायको : ते नाही देनार ! खूपच कंजूस आहेत ते
नवरा : हो ते साले खानदानी कंजूस आहेत म..रू..न जातील असेच… पण मदत नाही करणार…
एक काम कर कपाटातून आपलं काढ, खूपच जास्त दुखत आहे …😊😆😂😂😂

जोक 5 : एक बार एक किसान की भैंस म..र गयी।
सारा परिवार उदास हो गया।
एक रात को बाप दुःख से रो रहा था, रोते-रोते वो घर के कुए के पास पहुंचा।
कुएं से एक परी निकली और उसने पूछा,
“क्यों रो रहे हो?”

बूढ़े ने कहा, “मेरी भैंस म..र गयी है, मुझे उसका दुःख है।”
परी बोली, “मैं तुम्हारी भैंस को जिंदा कर दूँगी लेकिन एक शर्त है।”
बूढा बोला, “क्या शर्त है?”
परी बोली, “तुम्हें मुझसे 5 बार $#x करना पड़ेगा।”
बूढा मान गया और उसने परी से $#x करना शुरू कर दिया। एक बार, दो बार, तीसरी बार पर चौथी बार में बूढा म..र गया।

सुबह सब को पता चला तो दोनों भाई बड़े दुखी हुए।
अगली रात को बड़ा भाई रोता-रोता कुएं के पास आ गया।
फिर परी आई और पूछा,”क्यों रो रहे हो?”
बड़े भाई ने कहा, “पहले हमारी भैंस म..र गयी और अब बाप भी म..र गया।”
परी ने कहा, “दोनों जिंदा हो सकते हैं लेकिन मेरी एक शर्त है।”

बड़े भाई ने पूछा, “क्या शर्त है?”
परी ने कहा,”तुम्हें मुझे 10 बार $#x करना पड़ेगा।”
शर्त सुनकर बड़ा भाई भी मान गया।
एक बार, पांच बार पर आठवीं बार में वो भी म..र गया।
सुबह जब छोटे भाई को पता लगा उसे बड़ा दुःख हुआ।

रात को वो भी रोता-रोता उसी कुएं के पास आ गया फिर परी आ गयी। उसने उस से भी रोने का कारण पूछा।
छोटे भाई ने कहा, “पहले हमारी भैंस म..र गयी फिर बाप म..र गया और अब भाई भी म..र गया इस लिए रो रहा हूँ।”
परी ने कहा, “सब जिंदा हो सकते हैं लेकिन मेरी एक शर्त है।”
छोटे भाई ने शर्त पूछी तो परी ने अपनी शर्त बताई कि अगर तुम मुझसे 20 बार $#x कर सको तो सब ज़िंदा हो जायेंगे।
छोटा भाई मान गया और वो शुरू हो गया।

एक बार, पांच बार, दस बार, पंद्रह बार, बीस बार, पच्चीस बार, तीस बार और चालीसवीं बार परी म..र गयी पर उसके वायदे के मुताबिक सब जिंदा हो गए।
सब हैरान थे कि परी म..र कैसे गयी। बड़े भाई ने छोटे भाई से पूछा,
“परी म..री तो मरी कैसे?” छोटे भाई ने जवाब दिया,
“जब भैंस म..र सकती है तो परी क्या चीज़ थी?”

जोक 6 : मास्तर : मुलांनो सांगा दूध आणि बाई या मध्ये फरक काय?
बंड्या : दूध गरम झालं कि वरून साय येते….
आणि बा😛ई गरम झाली कि खालून साय येते !
मास्तर : मदर😛चो*द तू शाळेत येत नको जाऊ🤣😛🤣😛🤣😛🤣😛🤣😛🤣😛